होम गाइड दवाइयों के बिना हाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखने के नुस्खे

दवाइयों के बिना हाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखने के नुस्खे

आउटलुक टीम | Nov 19, 2019

बिपाशा दास

ब्लड प्रेशन के स्तर को सामान्य रखने में जीवनशैली की अहम भूमिका है। आप अपनी जीवनशैली को दुरुस्त करके ही इस समस्या से निजात पा सकते हैं और दवाइयों से बच सकते हैं।

क्या आप जानते हैं

वजन घटाने और बेली-फैट में कमी का संबंध आपके ब्लड प्रेशर से है?

ब्लड प्रेशर आमतौर पर आपके वजन के अनुपात में होता है। कुछ मामलों में इसका संबंध आपके खर्राटों (सांस लेने में रुकावट) से होता है, जब आप सोते हैं। इससे आपका ब्लड प्रेशर और बढ़ता है। आप अपना वजन एक किलो घटाकर अपना ब्लड प्रेशर करीब 1 एमम एचजी तक घटा सकते हैं।

क्या नियमित रूप से व्यायाम करने से ब्लड प्रेशर पर आश्चर्यजनक रूप से कम होता है?

नियमित रूप से शारीरिक व्यायाम शुरू में 30 मिनट तक टहल सकते हैं और बाद में जिम, जॉगिंग आदि में व्यायाम यह समय 60 मिनट से 150 मिनट तक बढ़ा सकते हैं। इससे आप अपना ब्लड प्रेशर 5 से 8 एमएम एचजी तक घटा सकता है, अगर आपको हाई ब्लड प्रेशर की समस्या है। एरोबिक, वाकिंग, जॉगिंग, साइक्लिंग, स्विमिंग, डांसिंग जैसे व्यायाम भी समय-समय पर कर सकते हैं।

क्या पोटेशियम से भरपूर डाइट लेने से बीपी को नियंत्रित करने में मदद मिलती है?

साबुत अनाज, फल, सब्जियों और कम वसा वाले डेयरी उत्पाद और संतृप्त वसा पर कोलेट्रॉल से भरपूर आहार इसके लिए सबसे अच्छा है। इस तरह की आहार योजना को डाइटनरी एप्रोचेज टू स्टॉप हाइपरटेंशन (डैश) डाइट भी कहा जाता है। शरीर में पोटेशियम का स्तर बढ़ाने पर सोचना चाहिए जो फल, सब्जियों, कोकोनट वाटर और नींबू आदि में मौजूद होता है। टेबल साल्ट खासकर रॉ साल्ट लेने से बचना चाहिए। इसके बजाय हिमालयन साल्ट या रॉक साल्ट लेना बेहतर होगा।

आहार में सोडियम घटाना बीपी को दुरुस्त रखने का सबसे अच्छा तरीका है।

आहार में सोडियम की मामूली मात्रा घटाने से ही ब्लड प्रेशर में 5 से 6 एमएम एचजी तक कमी लाई जा सकती है। रिकमंडेड डेली एलाउंस (आरडीए) के अनुसार रोजाना 2300 मिलीग्राम या इससे कम सोडियम की आवश्यकता होती है। सोडियम की मात्रा घटाने के नुस्खे कुछ इस प्रकार हैं। फूड प्रोडक्ट के लेबल पढ़ना शुरू कीजिए। कम सोडियम वाले फूड और बेवरेजेज के विकल्पों का चयन कीजिए। कम से कम प्रोसेस्ड फूड खाएं क्योंकि प्रिजर्वेशन के लिए प्रोसेसिंग के दौरान सोडियम मिलाया जाता है। भोजन में स्वाद के लिए अतिरिक्त नमक मत लीजिए। इसके बजाय जड़ी और मसालों का इस्तेमाल कर सकते हैं।

क्या अल्कोहल के इस्तेमाल का संबंध आपके बीपी से है।

सामान्य से ज्यादा मात्रा अल्कोहल ड्रिंक लेने से कई बार ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है।

जब भी आप स्मोकिंग करते हैं तो

आपका बीपी बढ़ जाता है। सिगरेट पीने के बाद काफी देर तक आपका ब्लड प्रेशर ज्यादा रहता है। स्मोकिंग छोड़ने से आपका ब्लड प्रेशर सामान्य हो सकता है। स्मोकिंग छोड़ने से हार्ट डिजीज का खतरा भी कम होता है और आपका स्वास्थ्य बेहतर होता है। जो लोग स्मोकिंग छोड़ देते हैं, वे स्मोकिंग जारी रखने वाले लोगों से ज्यादा समय तक जीते हैं।

कॉफी से भी बीपी बढ़ता है।

कैफीन खासतौर पर कॉफी के माध्यम से ब्लड प्रेशर 10 एमएम एचजी तक बढ़ जाता है। लेकिन ऐसे केस भी मिलते हैं जब अत्यधिक कॉफी पीने से ब्लड प्रेशर पर मामूली असर पड़ता है अथवा कोई असर नहीं होता है।

क्या तनाव बीपी का सबसे बड़ा दुश्मन है?

अत्यधिक तनाव होने से ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है। इसलिए सलाह दी जाती है कि काम के लंबे घंटों के बीच में विश्राम लेना चाहिए और दोबारा शुरू करना चाहिए। बीपी को नियंत्रण में रखने के लिए खास मसलों पर फोकस करना चाहिए और उनका समाधान निकालना चाहिए।

एक आखिरी सलाहः घर पर ब्लड प्रेशर की समुचित तरीके से निगरानी करनी चाहिए।